सोमवार, 7 जुलाई 2008

तो अब! वापसी है ब्लॉग जगत में

Posted on 6:39:00 pm by kamlesh madaan



लगभग दो-तीन महीने के अंतराल के बाद घर (ब्लॉगजगत) में लौटना सुखद हो रहा है, इस दौरान काफ़ी खट्टे-मीठे अनुभव प्राप्त हुये जो मैने अपनी यात्राओं से सीखीं।



क्या कहा यात्रायें?



जी हाँ ! एकदम से स्वभाव के उलट इस बार मैने एक साथ लगभग इतने दिनों और इतने शहरों की यात्राये की हैं जो मेरे लिये एक आश्चर्यजनक अनुभव था। इसका विवरण मैं आगे जरूर लिखूंगा.



हालांकि इस दौरान मैने ब्लॉगजगत में हो रही उठा-पटक को भी देखा, पंगेबाज की चिट्ठियां भी पढी, समीर जी की स्पेशल आमलेट भी खायी और इससे भी ज्यादा रचना जी की नारी शक्ति भी देखी.
नये नये लेखक भी देखे और यहाँ तक कि मेरे नामराशि वाला ब्लॉग भी देखा जो बिना इजाजत के चल रहा है।



अब आगे शुरूआत तो हो ही चुकी है, वापस अपने घर और ब्लॉगिंग के एक साल पूरे होने जो कबका हो चुका और आज मेरे जन्मदिन पर छोटी सी शुरूआत।

कमलेश मदान

7 Response to "तो अब! वापसी है ब्लॉग जगत में"

.
gravatar
Ghost Buster Says....

स्वागत है जी आप ही के ब्लॉग जगत में. देखिये लटोरिये सटोरिये स्पैमर भी हुल्कित हैं. हम सब तो खैर हैं ही.

.
gravatar
Udan Tashtari Says....

पहले तो जन्म दिन की हार्दिक शुभकामनाऐं और बधाई फिर ब्लॉग के एक बरस पूरा हो जाने की विलंबित शुभकामनाऐं और बधाई. आ जाओ. पुनः स्वागत है और अपने अनुभव सुनाओ. बहुत मिस किया, मित्र.

.
gravatar
Rachna Singh Says....

your blog always looks different whenever we visit , it shows your technical competence . good that you are back

.
gravatar
Shiv Kumar Mishra Says....

जन्मदिन की बधाई..ब्लॉग के एक साल पूरा होने की बधाई.
और हाँ, यात्राएं करके वापस लौटने पर हार्दिक स्वागत. बहुत दिनों से देख रहा था. कयास लगाने की कोशिश भी की. लेकिन आज आपने बताया कि आप यात्रा पर थे तो शंकाएं जाती रहीं.